चमोली जिले की ख़राब सड़कें सुधरेंगी, 5 करोड़ की धनराशि अवमुक्त

0
41

चमोली जिले के दूरस्थ गांवों को यातायात से जोड़ने वाली सड़कों की तस्वीर शीघ्र ही बदल जाएगी। लोक निर्माण विभाग ने जिले के प्रमुख मार्गों के सुधारीकरण और डामरीकरण की योजना तैयार की है। इसके लिए शासन से विभाग को पांच करोड़ की धनराशि भी उपलब्ध करा दी गई है। सड़कों के सुधारीकरण का कार्य भी जल्द आरम्भ हो जाएगा।

चमोली जिले के दशोली, पोखरी, घाट, कर्णप्रयाग क्षेत्रों के गांवों को जोड़ने वाली सड़कें बदहाल स्थिति में हैं। बारिश और भूस्खलन से सड़कों पर भूस्खलन और पुश्ते टूटे हुए हैं। वर्षों पुराने इन मार्गों का रख-रखाव ही नहीं किया गया है। अब लोनिवि ने अधिक आबादी क्षेत्र को जोड़ने वाली गोपेश्वर-घिंघराण (7 किमी), गोपेश्वर-पोखरी (10 किमी), नंदप्रयाग-घाट (10 किमी), घाट-रामणी (5.50 किमी) और पोखरी-कर्णप्रयाग (5 किमी) सड़क के नवीनीकरण की योजना बनाई है। इन सड़कों पर डामर बिछाने के साथ ही सुधारीकरण कार्य भी किया जाएगा। लोनिवि के अधीक्षण अभियंता मुकेश परमार ने बताया कि जिले के प्रमुख संपर्क मार्गों के सुधारीकरण के लिए शासन से पांच करोड़ की धनराशि मिल गई है। जल्द ही सड़कों पर कार्य शुरू किया जाएगा। दूसरे चरण में जोशीमठ, देवाल, थराली, गैरसैंण क्षेत्र की बदहाल सड़कों पर सुधारीकरण कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नंदप्रयाग-घाट मार्ग (19 किमी) का सुधारीकरण भी शीघ्र शुरू कर दिया जाएगा।


उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फ़ेसबुक पेज से जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here