आजकल

हल्द्वानी में बनेगा मल कीचड़ प्रबंधन सिस्टम, जीपीएस लगे डिस्लजिंग वाहनों से घरों के सैप्टिक टैंक से कचरा उठाकर एसटीपी में भेजा जाएगा

हल्द्वानी। शहर में तमाम इलाकों में सीवर लाइनें नहीं बिछने से सीवर निस्तारण की समस्या बनी हुई है। लोगों के सैप्टिक टैंकों में मल कीचड़ (फीकल स्लज) एकत्रित रहता है। सैप्टिक टैंक भर जाने पर इसे निस्तारित कराने की बड़ी समस्या रहती है। लोगों को... Read more

यादों के पृष्ठ/ जीवन अनुभव/ रोचक प्रसंग

अतिथि देवो भव (समृद्ध ग्रामीण पारंपरिक आतिथ्य सत्कार का अनुभव)

आज मैं जब  इस विषय पर  चर्चा करने जा रहा हूँ तो मेंरे अंतर्मन में  अनेक विचारों का आवागमन चल रहा है।कभी सोच रहा हूँ कि प्राचीन काल में लोगों के आतिथ्य भाव का तुलनात्मक अध्ययन वर्तमान काल में लोगों  के आतिथ्य भाव से करूँ,या फिर केवल प्राचीन... Read more

मोटिवेशनल/ प्रेरक

विविध

गैरसैंण में 662 ई-पंचायत सेवा केन्द्रों का शुभारंभ, सरकार पोर्टल से जुड़ेंगे प्रदेश के सभी सेवा केंद्र

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने राज्य की ग्रीष्माकालीन राजधानी गैरसैंण (भराड़ीसैंण) में राज्य की 662 ई-पंचायत सेवा केंद्र का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने ई-पंचायत सेवा केंद्र के लाभार्थियों से ई-संवाद भी किया। इस सेवा के माध्यम से न्याय पंचायत स्तर तक 12 प्रक... Read more

पर्यटन

हल्द्वानी में बनेगा मल कीचड़ प्रबंधन सिस्टम, जीपीएस लगे डिस्लजिंग वाहनों से घरों के सैप्टिक टैंक से कचरा उठाकर एसटीपी में भेजा जाएगा

हल्द्वानी। शहर में तमाम इलाकों में सीवर लाइनें नहीं बिछने से सीवर निस्तारण की समस्या बनी हुई है। लोगों के सैप्टिक टैंकों में मल कीचड़ (फीकल स्लज) एकत्रित रहता है। सैप्टिक टैंक भर जाने पर इसे निस्तारित कराने की बड़ी समस्या रहती है। लोगों को... Read more

कैरियर

पढ़ाई के साथ करियर भी संवारेंगे अटल उत्कृष्ट स्कूल, हर ब्लॉक में खुलेंगे दो-दो विद्यालय

राज्य के हर ब्लॉक में दो-दो अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के जरिए सरकार न केवल दूरदराज ग्रामीण क्षेत्र के छात्रों को न केवल गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया कराएगी। बल्कि छात्रों को उनकी पढ़ाई के दौरान ही करियर के प्रति भी जागरूक करेगी। कक्षा छह से 12 व... Read more

खट्टा और मीठा

क्या होती है सुवाल पथाई की रस्म

अपना भारत विभिन्न सभ्यताओं और संस्कृतियों को समेटे हुए है। यहां की सभ्यता और संस्कृति, विभिन्न प्रकार के रीति-रिवाजों, त्योहारों, विभिन्न प्रकार के परिधानों, भाषाओं और बोलियों से सजी हुई है। आज हम बात कर रहे भारत मे पहाड़ी शादी के एक रस्म की। वैसे तो मैं पहाड़ी नहीं हूं... Read more

2008 - 2020 All rights reserved UttaraPedia

error: