Home News शीतकाल के लिए बंद हुए द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट

शीतकाल के लिए बंद हुए द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट

by Neha Mehta
second kedar Madmaheshwar

उत्तराखंड: द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट विधिविधान के साथ सुबह 8.30 बजे शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए है। बाबा मद्महेश्वर की चल उत्सव विग्रह डोली शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर के लिए प्रस्थान करते हुए पहले पड़ाव गौंडार पहुंचेगी।

19 को रांसी में प्रवास होगा और डोली छह माह की शीतकालीन पूजा अर्चना के लिए 21 नवंबर को ओंकारेश्वर मंदिर में विराजमान हो जाएगी। द्वितीय केदार की चल उत्सव विग्रह डोली मद्महेश्वर से शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ के लिए प्रस्थान करेगी और रात्रि प्रवास के लिए पहले पड़ाव गौंडार पहुंचेगी।

मंदिर के पुजारी शिव शंकर लिंग ने बताया कि बाबा मद्महेश्वर की डोली मंदिर की परिक्रमा व अपने भंडार और पात्रों का निरीक्षण भी करेगी। श्रीबदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के कार्याधिकारी रमेश चंद्र तिवारी ने बताया कि मद्महेश्वर डोली आगमन के लिए ओंकारेश्वर मंदिर को भव्य रूप से सजाया जा रहा है। डोली आगमन पर मनसूना में तीन दिवसीय मेला का आयोजन होगा।

इस वर्ष यात्राकाल में मद्महेश्वर भगवान के दर्शनों के लिए आठ हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए हैं।

 

You may also like

Leave a Comment

Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?
-
00:00
00:00
Update Required Flash plugin
-
00:00
00:00