हल्द्वानी में घर-घर पाइपलाइन से पहुंचेगी गैस, 2.70 लाख उपभोक्ताओं को होगा फायदा

0
81

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेश लि. (एचपीसीएल) हल्द्वानी में गैस पाइप लाइन बिछाने जा रहा है। पाइप लाइन बिछाने के लिए लोक निर्माण विभाग, एनएचएआई और नगर निगम से रोड कटिंग की अनुमति मांगी है। योजना हल्द्वानी में पाइपलाइन के जरिए गैस कनेक्शन वितरण और सीएनजी पंप खोलने की है।

एचपीसीएल ने रुद्रपुर से लेकर हल्द्वानी तक गैस पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया है। पहले चरण में कंपनी ने एनएचएआई, वन विभाग, लोनिवि और नगर निगम से अनुमति मांगी गई है। एचपीसीएल के अधिकारी ने बताया कि कंपनी उत्तराखंड में सिर्फ नैनीताल जिले में ही गैस कनेक्शन देगी। योजना गैस पाइपलाइन से घरेलू, व्यावसायिक, सीएनजी पंप और हल्द्वानी से टैंकरों में भरकर पहाड़ों में गैस सप्लाई करना है।

हल्द्वानी और आसपास इंडियन ऑयल के 175254, एचपी के 20122 और बीपी के 73854 गैस कनेक्शन हैं। कंपनी की निगाहें इन कनेक्शनों पर टिकी है। कंपनी यहां पाइपलाइन बिछाकर अपने कनेक्शन बढ़ाना चाहती है।

एचपीसीएल की योजना हल्द्वानी शहर और आस-पास के गांवों में घर-घर गैस पहुंचाने की योजना है। एचपीसीएल की यह पहल सार्थक होती है तो पानी की तरह ही गैस की सप्लाई घर-घर की जाएगी। इससे गैस खत्म होने पर सिलेंडर लेकर नहीं भागना होगा, बल्कि आप अपनी आवश्यकता के अनुरूप गैस का उपयोग करके भुगतान कर सकते हैं। ये योजना इलेक्ट्रिक मीटर पर ही निर्भर होगी। कंट्रोल रूम में जिले को मिलने वाली गैस और खपत का डाटा एकत्रित रहेगा। इसके साथ ही हर घर में मीटर लगा रहेगा।

एचपीसीएल रुद्रपुर में प्लांट लगाएगा। इसके लिए जमीन ढूंढ ली गई है। एचपीसीएल के अधिकारी ने बताया कि रुद्रपुर तक गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लि. (गेल) की गैस पाइपलाइन आ चुकी है। गेल से एचपीसीएल ने करार कर लिया है। यहां से हल्द्वानी तक गैस पाइप लाइन बिछाई जाएगी। रुद्रपुर में कंपनी प्लांट और मीटर लगाएगी।

एचपीसीएल ने गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए रोड कटिंग करने की अनुमति मांगी है। कंपनी से रोड कटिंग के एवज में पैसा जमा करने के लिए कहा गया है।
– महेंद्र कुमार, अधिशासी अभियंता लोनिवि

एचपीसीएल ने नगर निगम की कई गलियों में गैस पाइपलाइन डालने की अनुमति मांगी है। कंपनी से रोड कटिंग की क्षतिपूर्ति जमा करने के लिए कहा गया है।
– चंद्र सिंह मर्तोलिया, नगर आयुक्त


उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फ़ेसबुक पेज से जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here