उत्तराखंड की सुर्खियां (रविवार, 31 जनवरी 2021)

0
45

प्रदेश : उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के 82 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 96,068 तक पहुंच गई। वहीं, एक मरीज की मृत्यु के बाद इस घातक वायरस से अब तक 1,643 लोग जान गंवा चुके हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अंनुसार देहरादून में सबसे अधिक 37 मामले, नैनीताल में 17, हरिद्वार में 11, उधमसिंह नगर में 11, पौड़ी में तीन, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में एक-एक मामला शामिल है। बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में अब तक 91,880 मरीज संक्रमणमुक्त हुए हैं और 1,343 राज्य से बाहर जा चुके हैं जबकि 1,202 मरीज उपचाराधीन हैं। इस बीच, शनिवार को 2,973 स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 टीका लगाया गया। राज्य में अब तक 28,791 स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया गया है।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

पिथौरागढ़ : मार्शल आर्ट में पारंगत होंगी पिथौरागढ़ पुलिस की महिला जवान। आत्मरक्षा की इस विधा को सीखने के बाद महिला जवान छात्राओं और महिलाओं को इस कला की बारीकियां सिखाएंगी। नारी सशक्त-देश सशक्त थीम पर महिला पुलिस जवानों के एक माह का आत्मरक्षा प्रशिक्षण पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में शुरू हुआ। प्रथम चरण के प्रशिक्षण में 20 महिला जवान भाग ले रही हैं।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

 हरिद्वार : गंगा को जीवित दर्जा देने के लिए भारतीय जागरूकता समिति के पदाधिकारियोें ने हरिद्वार को पॉलीथिन मुक्त करने के लिए जागरूकता यात्रा निकाली। यात्रा में लोगों को पॉलीथिन से होने वाले दुष्प्रभावों के प्रति जागरूक किया गया। शनिवार को भारतीय जागरूकता समिति के सदस्यों ने देहारादून शहर में पदयात्रा निकाली। समिति के अध्यक्ष हाई कोर्ट के अधिवक्ता ललित मिगलानी ने कहा कि हाईकोर्ट ने प्रदेश में पॉलीथिन पर बैन लगा दिया है। इसके उपरांत उत्तराखंड सरकार ने प्लास्टिक के कैरी बैग आदि वस्तुओं पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया। बावजूद इसके कुंभ क्षेत्र में आदेशों का कोई असर नहीं दिखाई दे रहा है। इसको लेकर इस पद यात्रा का आयोजन किया जा रहा है।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

हरिद्वार : प्रयागराज में माघ माह के स्नान के लिए हरिद्वार से गंगा में अतिरिक्त पानी छोड़ गया है। भीमगोड़ा बैराज से गंगा की मुख्य धारा का जलस्तर 12331 क्यूसेक कर दिया है। माघ माह के स्नान तक डिमांड के अनुसार जलस्तर बढ़ाया और कम किया जा सकेगा। ग्लेशियरों के कम पिघलने से बैैराज से पहले पहुंचने वाली गंगा की मुख्य धारा के जलस्तर में कमी आई है। कमी को पूरा करने के लिए टिहरी डैम से रोजाना 212 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। गंगा का जलस्तर पूरी तरह उच्च हिमालयी क्षेत्रों के मौसम पर निर्भर है। दिसंबर से जनवरी तक मुख्य धारा के जलस्तर में लगातार उतार-चढ़ाव है।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

बागेश्वर : महाकुंभ के लिए, बागेश्वर में प्रशिक्षित हुए 204 पीआरडी जवान। पीआरडी स्वयंसेवकों का 15 दिनों तक चला प्रशिक्षण संपन्न हो गया है। प्रशिक्षित 204 पीआरडी स्वयंसेवक अब हरिद्वार में आयोजित होने वाले महाकुंभ में सेवाएं देंगे। शनिवार को विक्टर मोहन जोशी राजकीय इंटर कालेज में पीआरडी स्वयंसेवकों का प्रशिक्षण संपन्न हो गया है। प्रशिक्षण के दौरान स्वयंसेवकों को यातायात नियमों की जानकारी के साथ भीड़ को नियंत्रित करने के गुर सिखाए। उन्हें यह भी बताया गया कि महाकुंभ के दौरान किस प्रकार की चुनौतियां सामने आएंगी। प्रशिक्षण में बेहतरीन प्रदर्शन करने पर कपकोट ब्लाक को पहला, बागेश्वर को दूसरा व गरुड़ ब्लाक को तीसरा स्थान मिला।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

देहरादून का एफआरआई एक फरवरी से फिर पर्यटकों के लिए खुलेगा।
देहरादून, वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) आमजन और पर्यटकों के लिए 1 फरवरी से पुनः खुलेगा। प्रतिदिन 150 पर्यटकों और 100 व्यक्तिों को भ्रमण करने की अनुमति दी जा रही है। इसके लिए सभी को ऑनलाइन पंजीकरण कराना जरूरी होगा। यह संस्थान वानिकी शिक्षा एवं शोध का उत्कृष्ट और विशेष आकर्षण का केंद्र रहा है। साल भर पर्यटक यहां भ्रमण करने के लिए आते हैं।
कोरोना काल से आमजन के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। संस्थान के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि केंद्र सरकार के दिशा निर्देशानुसार संस्थान को 1 फरवरी से फिर खोला जा रहा है। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए प्रतिदिन 150 पर्यटक और 100 व्यक्तियों को प्रातः भ्रमण की अनुमति दी गई है। भविष्य में स्थिति को देखते हुए संख्या बढ़ाई जा सकती है। कैंपस प्रातः 9 बजे से सायं 5 बजे तक और प्रातः भ्रमण के लिए सुबह 6 से 8 बजे तक खुला रहेगा। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन पंजीकृत पर्यटक एवं भ्रमणकर्ता ही कैंपस में प्रवेश कर सकेंगे। सभी पर्यटक एवं प्रातः भ्रमणकर्ता अपना पंजीकरण संस्थान की वेबसाइट fri.icfre.gov.in पर ऑनलाइन कर सकते हैं। प्रिंटआउट दिखाकर गेट पर पर्यटन शुल्क जमा कर सकते हैं।

– – – – – – – – – – – – – – – – – – – –

अल्मोड़ा : जिला अस्पताल को अटल आयुष्मान योजना में बेहतर सेवाएं देने पर उत्कृष्ट सेवा सम्मान मिला है। मुख्यमंत्री आवास में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अस्पताल के पीएमएस डॉ. आरसी पंत को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। आयुष्मान योजना में बेहतर कार्य करने पर अस्पताल की सराहना की। सीएम आवास पर शुक्रवार को हुए सम्मान समारोह में अटल आयुष्मान योजना में राज्यभर में उत्कृष्ट कार्य करने वाले सरकारी और निजी अस्पतालों को सम्मानित किया। कार्यक्रम में जिला अस्पताल अल्मोड़ा को भी सम्मानित किया गया। सीएम ने पीएमएस डॉ. पंत को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। पीएमएस ने बताया कि 23 सितंबर 2018 से शुरू हुई योजना से जिला अस्पताल में 1050 लाभार्थियों को सेवाएं मिलीं हैं। कुमाऊं के पर्वतीय जिलों में अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ को ही सम्मान मिला है। इसमें सर्वाधिक सेवाएं उपलब्ध कराने पर सीएम ने जिला अस्पताल की सराहना की। पीएमएस ने भविष्य में भी इसी तरह सेवाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

 

[ad id=’11174′]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here