आज के मुख्य समाचार उत्तराखंड

0
101
uttarakhand latest news

विधानसभा कूच कर रहे प्रदर्शनकारियों का हंगामा

चमोली जिले में19 किलोमीटर लंबे नंदप्रयाग-घाट मोटर मार्ग के चौड़ीकरण की मांग कर रहे ग्रामीणों की विधानसभा कूच के दौरान पुलिस के साथ तीखी झड़प हुई। विधानसभा तक जाने पर अड़े ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान कुछ देर पथराव भी हुआ। इससे एक वाहन के शीशे क्षतिग्रस्त हो गए। हालात को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर पानी की बौछार की, लेकिन जब स्थिति नहीं संभली तो लाठीचार्ज किया गया। इसमें एक महिला समेत तीन लोग चोटिल हो गए।

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा-उत्‍तराखंड को विकसित राज्‍यों की श्रेणी में लाना लक्ष्‍य

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के अभिभाषण के साथ ही ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में विधानसभा के बजट सत्र का सोमवार को आगाज हो गया। अपने अभिभाषण में राज्यपाल ने कहा कि विकेंद्रीकृत विकास और सबका साथ-सबका विकास की अवधारणा को धरातल पर उतारते हुए उत्तराखंड को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाना सरकार का लक्ष्य है। सभी के सहयोग से इस संकल्प को पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने स्वास्थ्य, पेयजल, रोजगार, मनरेगा, कुपोषण, पलायन, खेती-किसानी, सहकारिता समेत विभिन्न क्षेत्रों में सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करने के साथ ही भविष्य की योजनाओं को रेखांकित किया।

 

गैस के दामों में बढ़ोत्तरी का कांग्रेस ने किया कड़ा विरोध, केंद्र सरकार के पुतले को किया आग के हवाले

रसोई गैस सिलिंडर के दाम सोमवार को 25 रुपये और बढ़ गए हैं, जिसका महानगर कांग्रेस ने कड़ा विरोध किया। कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन कर केंद्र की मोदी सरकार का पुतला फूंका। कांग्रेस कार्यकर्त्‍ता सोमवार दोपहर 12 बजे महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में राजपुर रोड स्थित कांग्रेस भवन में एकत्र हुए। करीब एक बजे यहां से जुलूस निकालते हुए एस्लेहॉल चौक पर पहुंचे। यहां केंद्र सरकार के खिलाफ महंगाई को लेकर जमकर नारेबाजी की गई। इसके बाद केंद्र सरकार के पुतले को आग के हवाले कर दिया। इसके बाद भाजपा सरकार पर हमला बोला, कहा महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने एक महीने में लगातार चार बार रसोई गैस सिलिंडर के दाम बढ़ाए हैं। जिससे यह साबित हो गया कि यह सरकार आम जनता की न होकर कुछ सरमायेदारों की सरकार है।

उत्तराखंड में आपदा से लड़ने को मजबूत तंत्र होगा विकसित, मौसम व भूकंप संबंधी पूर्वानुमान पर जोर

उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदाओं की दृष्टि से बेहद संवेदनशील राज्य में मजबूत आपदा प्रबंधन तंत्र विकसित करना सरकार की शीर्ष प्राथमिकता में हैं। राज्यपाल के अभिभाषण में इस पर फोकस किया गया है। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने अभिभाषण में कहा कि आपदा के दौरान सूचना समय पर मिल सके और संचार तंत्र को तत्काल बहाल किया जा सके इसके लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए जिलों व तहसीलों में 180 सैटेलाइट फोनों रखे गए हैं। तहसील व थाना स्तर पर ड्रोन की तैनाती की जा रही है। खोज बचाव से संबधित उपकरण, रात के अंधेरे में भी बिजली व्यवस्था व आपदा राहत बचाव के सभी उपकरणों को तहसील स्तर पर उपलब्ध कराया गया है।

कहा कि मौसम संबंधी आंकड़ों के एकत्रीकरण के लिए राज्य में विभिन्न स्थानों पर ऑटोमेटिक वैदर स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं। राज्य में ऑटोमेटिक वैदर स्टेशन के साथ ही 25 सरफेस फील्ड आब्जरवेटरी, 28 रेन गेज व 16 स्नोगेज उपकरणों की स्थापना की प्रक्रिया चल रही है। भूंकप के खतरों से निपटने व इससे आने वाली आपदा में जान व माल के नुकसान को कम से कम करने के लिए आईआईटी रुड़की के सहयोग से गढ़वाल व कुमाऊं में 184 भूकम्प पूर्व चेतावनी सेंसर स्थापित किए गए हैं। मौसम संबंधी सूचनाओं के लिए भारतीय मौसम विज्ञान के सहयोग से मुक्तेश्वर में डॉप्लर रडार की स्थापना का काम अंतिम चरण में है।

विजय हजारे में जीत का पंच लगाकर उत्तराखंड ने किया क्वालीफाई

विजय हजारे ट्रॉफी में उत्तराखंड टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत का पंच लगाकर प्लेट ग्रुप से क्वालीफाई किया। अब सात मार्च को उत्तराखंड टीम प्री क्वार्टर फाइनल में दिल्ली की टीम से भिड़ेगी। चेन्नई के एसएसएन कॉलेज ग्राउंड पर सोमवार को उत्तराखंड और सिक्किम के बीच मुकाबला खेला गया। सिक्किम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिए उत्तराखंड को आमंत्रित किया।

3 मार्च को निरंजनी अखाड़े ने निकालेगा पहली पेशवाई, तैयारियां तेज

हरिद्वार कुम्भ 2021 में अखाड़ो की पहली पेशवाई की तिथि निर्धारित कर दी गयी है। निरंजनी अखाड़ा तीन मार्च को पेशवाई निकलने जा रही है। कोविड के कारण जो कार्यक्रम दिसंबर या जनवरी में होने थे वो कार्यक्रम अब मार्च में होने जा रहा है। निरंजनी अखाड़े तीन मार्च को कुंभ 2021 के तहत पहली पेशवाई निकालने जा रहा है।

4 मार्च को पेश होगा उत्तराखंड का बजट।

1 मार्च से गैरसैण विधान सभा में त्रिवेंद्र सरकार का बजट सत्र शुरू हो रहा है. जहां सरकार इस कार्यकाल का आखिरी बजट पेश करेगी. ये सत्र 1 से 10 मार्च तक चलेगा. 4 मार्च को त्रिवेंद्र सिंह सरकार की ओर से बजट पेश किया जाएगा. कोरोना संक्रमण के चलते बजट सत्र में कड़े मानक लागू किए गए हैं. कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही विधानसभा परिसर में प्रवेश मिलेगा.

[ad id=’11174′]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here