‘देवों की भूमि – उत्तराखंड’

8
335
uttarakhand

[dropcap]उ[/dropcap]त्तराखंड को देवभूमि के नाम से जाना जाता है, कहा जाता है कि यहां समय-समय पर देवी- देवताओं ने अवतार लिया है। केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री  चार धाम यहां स्थित है। यहां कण कण में देवी-देवताओं का वास है। गंगा, यमुना और सरस्वती जैसी पवित्र और शीतल नदियों का उद्गम स्थल भी यहीं पर है। महर्षि व्यास ने भी महाभारत का लेखन इसी देवों की भूमि में किया था।

आप लोगों ने अक्सर सुना होगा कि देवभूमि उत्तराखंड स्वर्ग के समान हैं। जी हाँ, तब तो आप सभी ने बिल्कुल सही सुना, कुदरत ने यहां चारों ओर अलौकिक सौंदर्य की छटा बिखेरी हुई हैं। हिमालय के ऊंचे-ऊंचे पर्वत उत्तराखंड की सुंदरता में चार चांद लगाते हैं। उत्तराखंड स्वर्ग सा हो भी क्यों ना, ईश्वर ने इसकी रचना स्वयं अपने हाथों से की है।

उत्तराखंड भारत के उत्तर क्षेत्र में स्थित एक राज्य है, जिसकी देहरादून (शीतकालीन) और गैरसैंण (ग्रीष्मकालीन) राजधानी हैं। उत्तराखंड का गठन भारत के 27 वें राज्य के रूप में 9 नवंबर 2000 को हुआ। उत्तराखंड  पहले उत्तरांचल नाम से जाना जाता था। जनवरी 2007 में इसे बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया।

उत्तराखंड में 13 जिले हैं, जो 2 मंडलों में विभाजित है, कुमाऊं मंडल और गढ़वाल मंडल। कुमाऊं मंडल में 6 जिले हैं और गढ़वाल मंडल में 7 जिले हैं।

उत्तराखंड की मुख्य क्षेत्रीय भाषाएँ कुमाऊंनी और गढ़वाली है, लेकिन अधिक उपयोग होने वाली भाषा हिंदी हैं। कुमाऊंनी और गढ़वाली बोलियां, कुमाऊं और गढ़वाल क्षेत्र में बोली जाती है। कुछ क्षेत्रों में जौनसारी,  अस्कूटी और सैलानी आदि बोलियों का प्रयोग किया जाता हैं।

 उत्तराखंड अपनी प्राकृतिक सौंदर्य और तीर्थ स्थलों के लिए जाना जाता है। उत्तराखंड की खूबसूरती और मनमोहक दृश्य, दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं, जिसका लुफ्त उठाने के लिए हर वर्ष यहां भारी मात्रा में पर्यटक आते हैं।

धार्मिक पर्यटक स्थल है:

केदारनाथ, बद्रीनाथ, हरिद्वार, ऋषिकेश, गंगोत्री, यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब आदि।

दर्शनीय पर्यटक स्थल हैं:-

फूलों की घाटी, औली, पिंडारी ग्लेशियर, मसूरी,नैनीताल, रानीखेत, देहरादून, भीमताल, कौसानी, अल्मोड़ा, जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क आदि।


(उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फेसबुक ग्रुप से जुड़ें! आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर  और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here