मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पूर्व में की घोषणाओं की समीक्षा की, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

0
69
uttarakhand cm latest news

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पूर्व में की घोषणाओं की समीक्षा की, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

राज्‍य ब्‍यूरो, देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून सचिवालय में आज पिथौरागढ़, बागेश्वर एवं चंपावत जिलों की मुख्यमंत्री घोषणाओं की समीक्षा की। बैठक में विधायक बलवंत सिंह भौर्याल, कैलाश चंद्र गहतौड़ी, चंदन राम दास व वर्चुअल माध्यम से विधायक चंद्रा पंत, बिशन सिंह चुफाल उपस्थित थे। समीक्षा में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सीएम घोषणाओं को निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जाए। स्थानीय स्तर पर समस्या के त्वरित समाधान के लिए संबंधित विधायकगणों से समन्वय स्थापित किए जाए। भविष्य में हर माह मुख्यमंत्री सीएम घोषणाओं की समीक्षा करेंगे। कार्यों में तेजी लाने के लिए जिलाधिकारियों को 15 दिनों में घोषणाओं की कार्य प्रगति की समीक्षा करने के निर्देश दिए गए हैं। सीएम घोषणा पोर्टल पर भी सभी घोषणाओं को अपडेट रखने के निर्देश दिए गए।

जनपद पिथौरागढ़ में मुख्यमंत्री की 152 घोषणाओं में से 98 घोषणाएं पूर्ण हो चुकी हैं, शेष घोषणाओं पर कार्य प्रगति पर है। बागेश्वर जिले में 58 घोषणाओं में से 36 पूर्ण हो चुकी हैं, जबकि शेष पर कार्य चल रहा है। जनपद चंपावत में 88 घोषणाओं में से 53 घोषणाएं पूर्ण हो चुकी हैं और शेष योजनाओं पर कार्य प्रगति पर है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि घोषणाओं को समय पर पूर्ण करने के साथ ही इन कार्यों की गुणवत्ता का भी विशेष ख्याल रखा जाय। साथ ही मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि धार्मिक एवं पर्यटक स्थलों पर जल के संरक्षण एवं संवर्द्धन, पेयजल, आवागमन एवं अन्य सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा जाय। शौचालयों के निर्माण के साथ ही उनके मेंटिनेंस की व्यवस्था भी की जाए। पेयजल, स्वास्थ्य एवं शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाओं वाले कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।

जनपद पिथौरागढ़ में मुख्यमंत्री घोषणाओं के अंतर्गत मुख्यतः बरम-कनार मोटर मार्ग, डुंगातोली से चुनरगांव मोटर मार्ग, सिमल से नाग मोटर मार्गयर,बनकोट से भटृटीगांव मोटर मार्ग के नव निर्माण कार्यों के डामरीकरण सुधारीकरण एवं सौंदर्यीकरण के कार्य पूर्ण किये जा चुके हैं। ऑवला घाट से पिथौरागढ़ पेयजल योजना पूर्ण की जा चुकी हैं। डीडीहाट पेयजल योजना एवं मुनस्यारी नगर पेयजल योजना का कार्य पूर्ण हो चुका है। डिगरा मुवानी कलौन गाड एवं गुंजी पेयजल योजना की स्वीकृति दी जा चुकी है। पिथौरागढ़ जिला अस्पताल में टेलीरेडियोलॉजी की सुविधा उपलब्ध कराई गई हैं। पिथौरागढ़ को पर्यटक शहर के रूप में विकसित करने के लिए 85.80 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत की गई। थरकोट झील के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। पिथौरागढ़ में पार्किंग के निर्माण, मदकोट एवं सेरा स्थित गर्म पानी के स्रोतों के विकास, मुनस्यारी को पर्यटन डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने, होम स्टे को बढ़ावा देने एवं हाई टैक शौचालय निर्माण की घोषणाएं पूर्ण हो चुकी हैं।  ऐलागाड, तवाघाट एवं धारचुला में तटबंध निर्माण के लिए प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृतियां दी जा चुकी हैं।

बागेश्वर जनपद में सीएम घोषणाओं के तहत मुख्यतः पिण्डारी ग्लेशियर ट्रेकिंग रूट के द्वाली में 60 मी. स्पान झूला पुल एवं सोराग से सुंदर ढ़ुंगा तक नए ट्रेकिंग रूट की घोषणा पूर्ण हो चुकी है। बागनाथ मंदिर में धर्मशाला एवं बैजनाथ मंदिर गरूड़ में संग्रहालय निर्माण की घोषणा पूर्ण हो चुकी है।बिलौना, कालापैरकापडी, म्यून्डा लिफ्ट सिंचाई योजना, विभिन्न सड़क मार्गों का नव निर्माण एवं डामरीकरण एवं पेयजल योजनाओं से संबंधित घोषणाओं का कार्य पूर्ण हो चुका है।

चंपावत जनपद में मुख्यमंत्री घोषणाओं के तहत मुख्यतः जनपद मुख्यालय के सौंदर्यीकरण, चंपावत एवं टनकपुर में आधुनिक शौचालयों के निर्माण, वाणासुर एवं चंपावत में ट्रेक रूट के विकास, जनपद में विभिन्न पार्कों के सौंदर्यीकरण,  चंपावत में पार्किंग व बस अड्डा के निर्माण एवं विभिन्न सड़कों के नव निर्माण एवं डामरीकरण के कार्य पूर्ण हो चुके हैं।

[ad id=’11174′]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here