Rajesh Budhalakoti

17 POSTS
अल्मोडा कॉलेज से post graduation कर सार्वजनिक उपक्रम मे विपणन प्रबन्धक रह कर देश के कई स्थानो मे रहा, अब सेवा निवृति के उपरान्त हल्द्वानी मे रह रहा हूँ। मूल निवास कोटाबाग। पढाई अल्मोडा और नैनीताल से। रूचि - पढ़ना और पढ़ाना

Exclusive articles:

गीत को लय में ढालना शेष था (कविता)

जब मन ने विचारों के समुद्र में गोते लगाये, गहरे पानी पैठ शब्दों के दो मोती पाए। फिर कल्पना के आकाश में ऊँची उडान भरी, सुंदर भावो...

घर जो छोड़ना पड़ा

चम्पानौला का तिमंजिला मकान, मेरी दिल्ली वाली बुआ के ससुराल वालों का था, और हम लोग उस मकान के पाँच कमरों मे साठ रुपये...

ठेका -जहाँ न अमीरी गरीबी, न जात-पात, न भेद भाव 🙂

मित्रो फ़ायदे हो चाहे हजारो लाखो का  नुकसान हो पर राजमार्गो के ठेके बन्द होने से एक शून्य तो अवश्य व्याप्त हो गया है।...

लॉकडाउन में पति की हालत पतली

जनाब लॉकडाउन मे इन्तजार जिन दुकानो के खुलने का था, उन दुकानो के खोलने पर मोदी जी के साफ़ निर्देश आ गये है कि,...

पलायन : समस्या, विमर्श की दिशा और समाधान

सुबह होती है शाम होती है उम्र यू ही तमाम होती है। अब सच में ये ही लगने लगा है के बस हमारी जिंदगी भी...

Breaking

उत्तराखंड की हस्तियों को मिलेगा राष्ट्रीय पुरस्कार

उत्तराखंड में कई लोग ऐसे हैं जो अलग-अलग क्षेत्र...

उत्तराखंड में पहली बार नजर आई Chinese Ruby Throat

Uttarakhand: उत्तराखंड अपनी संस्कृति अपने प्राकृतिक सौन्दर्य कर...

Bisleri बिसलेरी (Bottled drinking वाटर) ब्रांड के सफलता की कहानी

देश की सबसे लोकप्रिय और भरोसेमंद बोतलबंद पानी (Bottled...

देवभूमि में पर्यटन के क्षेत्र में अगले 10 साल में 10 डेस्टिनेशन

मसूरी में चल रहे लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक...
spot_imgspot_img
error: