100 के पार पहुंचा पेट्रोल तो बंद हो जाएंगे कई पंप, जानिए कारण

0
13

पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार बदोत्तरी हो रही है। यदि इसी तरह दाम बढ़कर 100 रुपये के पार हो गए तो प्रदेश के ढेरों पेट्रोल पंप बंद हो जाएंगे। पेट्रोल पंप्स पर लगी डिस्पले यूनिट में चार डिजिट से ज्यादा नंबर फीड नहीं हो सकते हैं। ऐसे में आखिरी दाम 99.99 रुपये तक ही फीड किया जा सकता है।

निरंतर पेट्रोल व डीजल के बढ़ रही कीमतों से जहां वाहन स्वामी और यात्री परेशान हैं वहीं दूसरी तरफ पेट्रोल पंप संचालकों के माथे पर भी चिंता की लकीरें पड़ने लगी है। उनकी चिंता की वजह पेट्रोल पंप पर लगी मशीनें हैं। पेट्रोल पंप पर लगी मशीनों में तीन विकल्प होते हैं।

पहले से यह पता चलता है कि आपके वाहन में कितने रुपये का पेट्रोल व डीजल भरा गया है।
दूसरे ऑप्शन से मालूम चलता है कि कितने लीटर पेट्रोल या डीजल पेट्रोल पंप के कर्मचारी ने डाला है, वहीं तीसरे ऑप्शन में पेट्रोल या डीजल की वर्तमान मूल्य का पता चलता है। ऐसे में प्रदेश ढेरों पेट्रोल पम्प जिन पर पुरानी मशीन लगी हैं, इन मशीनों में मात्र 99.99 रुपये तक का ही पेट्रोल का रेट फीड किया जा सकता है। वर्तमान में तेल की कीमत 88 रुपये के करीब पहुंच गई है। वहीं डीजल भी 80 रुपये के करीब चल रहा है।

यदि पेट्रोल और डीजल के दाम इसी तरह बढ़कर 100 रुपये या उससे अधिक हो गए तो पेट्रोल का मूल्य पांच अंकों का हो जाएगा और वह इन पेट्रोल पंपों के डिस्प्ले पर दिखाई नहीं देगा। क्योंकि पांच अंकों के लिए डिस्पले में जगह की आवश्यकता होती जो फिलहाल नहीं हैं और वाहन चालकों को पता हीं नहीं चलेगा कि पेट्रोल व डीजल की आज कीमत क्या चल रही है।
कंपनियों के संपर्क में पेट्रोल पंप स्वामी
पेट्रोल और डीजल के लगातार बढ़ रही कीमतों को लेकर बेचैन पेट्रोल पंप मालिकों ने कंपनियों से बातचीत शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कंपनी के अनुसार उन्हें सॉफ्टवेयर अपडेट करने का आश्वासन दिया जा रहा है।

हर दिन अलग से कीमत लिखी तख्ती लगानी पड़ेगी
पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने पर पेट्रोल पंप वालों को हर दिन की कीमत कागज में प्रिंट करके चिपकानी होगी, ऐसे में एक नई जिम्मेदारी और बढ़ जाएगी। पेट्रोल व डीजल के दामों में प्रतिदिन बदलाव होता रहता है।

नई मशीनों में है अधिक अंकों को प्रदर्शित करने की सुविधा
पेट्रोल पंपों पर लगाई जा रही नई मशीन ऑटोमैटिक हैं। जिनमें दाम भी पेट्रोलियम कंपनियों के मुख्यालयों से ही फीड किया जाता है। बताया जा रहा है कि जिले में भी बहुत ही कम मशीनें ऐसी हैं जिनमें नया फीचर है। नई मशीनों में ही पांच से सात नंबर तक की डिस्पले हैं। जबकि पुरानी मशीनों में डिस्पले सिर्फ चार नंबर तक ही प्रदर्शित करती हैं। अब देखने वाली बात यह होगी की पेट्रोल की कीमत 100 से ऊप्पर पहले जाती है या इन पेट्रोल पम्प में लगी मशीने पहले upgrade होती हैं।

[ad id=’11174′]

Leave a Reply