आज से लगभग 600 वर्ष पूर्व उत्तराखंड में यहाँ गुरुनानक देव जी आए थे

0
34
Nanakmatta Gurdudwara
Nanakmatta Gurdudwara

नानकमत्ता गुरुद्वारा, उत्तराखण्ड में स्थित सिखों के तीन प्रमुख तीर्थ स्थानों में से एक है। अन्य दो स्थान हैं – हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा और श्री रीठा साहिब गुरुद्वारा। रीठा साहिब गुरुद्वारा पर youtube.com/PopcornTrip द्वारा पूर्व में बना वीडियो आप देख सकते हैं।?

उत्तराखंड में उधम सिंह नगर जिले में, खटीमा से लगभग 15 किलोमीटर की दुरी पर स्थित नानकमत्ता एक धार्मिक और ऐतिहासिक स्थल हैं। नानकमत्ता गुरुद्वारा सिखों का पवित्र व ऐतिहासिक गुरुद्वारा है। यहाँ हर वर्ष हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।

नानकमत्ता साहिब में आज से लगभग 600 वर्ष पूर्व यहाँ गुरुनानक देव जी आए थे। आज हम जानेंगे इसी स्थान को। जानेंगे यहा आप कैसे आ सकते हैं, यहाँ का इतिहास, यहाँ का महत्व, कहाँ आप भोजन कर सकते हैं, कहाँ रात्री विश्राम कर सकते हैं।

गुरुद्वारा के मुख्य द्वार से बायीं और वाहनो की पार्किंग हैं। मुख्य प्रवेश द्वार से अंदर प्रवेश कर साफ़ सुथरा courtyard। यहाँ एकऔर ड्रिंकिंग वाटर के टैप, मेन गेट से भीतर footware काउंटर, श्रद्धालु गुरुद्वारे में प्रवेश से पूर्व अपने फुटवियर उतार कर प्रवेश करते हैं। यहाँ पर छोटे से कुंड में पैर धोकर गुरुद्वारे की और बढ़ते हैं।

गुरुद्वारे में भेट करने के लिए प्रसाद, गुरूद्वारे के सामने ही स्थित काउंटर से खरीद सकते हैं।

गुरुद्वारे का मुख्य भवन, में सामने रखा धर्मग्रंथ श्री गुरुग्रंथ साहिब में सभी Devotee अपनी श्रद्धा प्रकट कर निरंतर चलने वाली मधुर गुरुवाणी चलती हैं। विश्व भर से भक्त मन मे विश्वास और आस लिए आते हैं गुरुनानक जी का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। नव विवाहित जोड़े भी यहाँ नव जीवन शुरू करने से पहले कृपा प्राप्ति की आस में यहाँ आते हैं। गुरुद्वारा में आपको गुरुवाणी की मधुर आवाज आपको स्थिर कर देती है।

गुरूद्वारे में ऐतिहासिकऔर पवित्र पीपल का वृक्ष जिसे पंजा साहिब/ पीपल साहिब के नाम से जाना जाता है, मुख्य गुरुद्वारा के पीछे के और स्थित है। गुरुनानक जी जब यहाँ आयें थे, तब उन्होने इस सूखे पीपल के पेड़ के नीचे ध्यान किया था, उनके तेज से वह सूखा पेड़ फिर से हरा भरा हो गया। इस वृक्ष के नीचे दिव्य दीप की अखंड ज्योति लगातार जलती रहती है। इस पंजा साहिब की नीचे लोग अपनी मनोकामना पूर्ति पूरी श्रद्धा हेतु प्रार्थनाएँ करते हैं।

गुरुद्वारा प्रबंधन कमिटी द्वारा प्राथिमिक विद्यालय, इंटर कॉलेज, अस्पताल आदि जन उपयोगी सेवाओं का भी संचालन किया जाता है।

गुरुद्वारा का रखरखाव, कृषि, पशुपालन, donations आदि सारा कार्य गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी द्वारा जिलाधिकारी उधम सिंह नगर के देखरेख में किया जाता है।

गुरूद्वारे के पीछे की ओर हैं – एक सरोवर। जिसके किनारे बैठ अच्छा समय बिता सकते हैं। इस सरोवर में रंग बिरंगी मछलियाँ। और हरियाली यहाँ के स्वच्छ वातावरण, यहाँ आने वालों में ऊर्जा भर देते हैं।  नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा बहुत बड़े परिसर में फैला हैं। यहाँ की एक विशेषता और हैं कि – गुरुद्वारा के निकट ही 24 घंटे लंगर चलता रहता हैं, जहाँ प्रबंधन कमिटी के साथ सेवादार यहाँ आये विजिटर भी अपनी सेवाएं देते रहते हैं।

Nanakmatta Gurdudwara uttarakhand
Nanakmatta Gurdudwara uttarakhand

नानकसागर बाँध गुरुद्वारा श्री नानकमत्ता साहिब के पास ही है इसलिये इसे नानक सागर के नाम से भी जाना जाता है।

नानकमत्ता का ऐतिहासिक महत्व भी है। इस स्थान पर स्वयं गुरु नानक देव के बाद बाबा अलमस्त साहिब जी, सीख धर्म के छठे गुरु, गुरु हर गोबिन्द सिंह जी भी अलग अलग समय पर आए थे।

यहां दिवाली की अमावस्या के समय विशाल मेले का आयोजन किया जाता है। जो साथ – आठ दिन तक चलता हैं उस समय गुरुद्वारे व नगर को आकर्षक रूप से सजाया जाता है।

रीठा साहिब गुरद्वारा की दूरी यहाँ से लगभग 150 किमी0 है। और रीठा साहिब गुरूद्वारे पर PopcornTrip में पूर्व में बने वीडियो को देख सकते हैं।

 

कहाँ रुकें
नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा में रात्री विश्राम करने के लिए गुरुद्वारा प्रबंधन से संपर्क कर, और उपयुक्त पहचान पत्र दिखा और अनुमति ले सकते हैं। गुरुद्वारा में आने वालों को रात्री विश्राम के लिए dormatory/ four beded, डबल बेडेड रूम उपलब्ध होने के साथ साथ सितारगंज, खटीमा आदि नजदीकी स्थानो में भी आपको कई होटल आदि मिल जाते हैं।

Location

ये गुरुद्वारा उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले में खटीमा और सितारगंज के बीच खटीमा से 16 km और सितारगंज से 12 किमी0 की दूरी पर स्थित है। यहाँ वर्ष में कभी भी आया जा सकता है। यह स्थान सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह जुड़ा हुआ है, इसके अलावा रेल और हवाई मार्ग द्वारा भी यहाँ आसानी से पहुंचा जा सकता है।

कहने को कई बाते हैं, गुरु साहिब के के बारे में बताने को, और हैं लोगों के जीवन में आये चमत्कारों की अनेकों कहानियां। नानकमत्ता गुरुद्वारा दर्शन कर आत्मिक शांति की अद्भुत अनुभूति के लिए आइये गुरुद्वारा आप भी। उम्मीद है यह जानकारी आपको पसंद आई होगी, और विस्तृत जानकारी के लिए आप नीचे दिया हुआ विडियो भी देख सकते हैं। फिर मिलते हैं – किसी और जानकारी की साथ।

नानकमत्ता गुरुद्वारा की जानकारी देता विडियो देखें  ?

ये भी पढे ?

रीठा साहिब गुरुद्वारा की जानकारी

हेमकुंड साहिब की जानकारी 


उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फ़ेसबुक पेज से जुड़ें।

Leave a Reply