उत्तराखंड के प्रमुख जलप्रपात

0
483

उत्तराखंड में कई प्रमुख हिल स्टेशन है। इसलिए यहां पर जलप्रपात का होना भी लाजमी है। पहाड़ों और चट्टानों से गिरने वाले नदी और नालों के जल की धारा को जलप्रपात कहते हैं। जब जल की धारा पतली गिरती है तब इसे जलप्रपात कहां जाता हैं, और जब जल की बहुत बड़ी धारा अधिक ऊंचाई से गिरती है तब इसे महा जलप्रपात कहां जाता हैं। उत्तराखंड का अधिकतम भाग पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण यहां अनेक जलप्रपात है, जहां बड़ी संख्या में पर्यटक प्रतिवर्ष घूमने आते हैं। आइए अब बात करते हैं उत्तराखंड के प्रमुख जलप्रपातों की।

  1. सहस्त्रधारा: सहस्त्रधारा देहरादून से लगभग 14 किलोमीटर दूर बाल्दी नदी के पास स्थित है।
    PC: Holidify

    सहस्त्रधारा के नाम के अनुरूप यहां हजारों झरने हैं। परंतु इनमें से एक झरना गंधक युक्त जल का है। इसलिए प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में लोग यहां स्नान करने आते हैं। गंधक युक्त झरने के जल में स्नान करने से चर्म रोग भी ठीक हो जाते हैं।

  2. केंपटी फॉल : केंपटी फॉल मसूरी से लगभग 15 किलोमीटर दूर स्थित है। यहां पर जल 14 मीटर ऊंचाई से गिरता है।
    PC: Bugyal valley

    केंपटी फॉल, राज्य के पसंदीदा जलप्रपातों में से एक है। यहां भी प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं।

  3. टाइगर फॉल : यह जलप्रपात देहरादून से लगभग 98 किलोमीटर और चकराता से लगभग 20 किलोमीटर दूर है।
    Tiger fall

    यहां जल की धारा चकराता की पहाड़ियों से लगभग 50 मीटर ऊंचाई से गिरती है।

  4. वसुंधरा प्रपात : यह जलप्रपात उत्तराखंड के चमोली में स्थित माना गांव से लगभग 5 किलोमीटर दूर अलकनंदा नदी मे मिलती है।
    Vasundhara fall

    यह बद्रीनाथ धाम के पास स्थित एक झरना है। बद्रीनाथ से वसुंधरा प्रपात की दूरी लगभग मात्र 9 किलोमीटर है।

  5. मुनस्यारी प्रपात : मुनस्यारी प्रपात पिथौरागढ़ से
    Munsyari fall

    लगभग 127 किलोमीटर दूर मुनस्यारी मे स्थित है।

  6. बिर्थी प्रपात : यह जलप्रपात भी पिथौरागढ़ में बिर्थी नामक गांव मे स्थित है। यह जलप्रपात मुनस्यारी मार्ग पर स्थित है। यह झरना समुद्र तल से 400 फीट ऊंचाई से गिरता है।
    Brthi fall

    कालामुनी दर्रे से भी वीरथी प्रपात तक पहुंचा जा सकता है। यहां भी प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं, और यहां के दृश्य से मंत्रमुग्ध होकर वापस जाते हैं।

  7. भट्टा प्रपात : यह जलप्रपात भी मसूरी से लगभग 7 किलोमीटर दूर भट्टा गांव में स्थित है।
    PC: bugyal valley

    यह भी बड़ी संख्या में प्रतिवर्ष पर्यटक आते हैं, और यहां के मनोरम दृश्य को अपने कैमरे में कैद कर ले जाते हैं। भट्टा जलप्रपात की मुख्यधारा में शैवाल (algie) अधिक होते हैं। परंतु यहां पास के तालाब में स्वच्छ पानी मिल जाता है। यह एक सुंदर मनोहारी पिकनिक स्पॉट है।

  8. हार्डी प्रपात: यह जलप्रपात भी पहाड़ों की रानी मंसूरी के निकट स्थित है।

    PC: tripAdvisor

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here