उत्तराखंड प्रमुख समाचार 25 मार्च 2021

0
60

आप के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर बोले, आम आदमी पार्टी से जुड़े तीन लाख नए सदस्य

आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने बताया कि उत्तराखंड में पिछले 45 दिन में पार्टी से 306881 लोग जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा, यह दर्शाता है कि उत्तराखंड की जनता अब परिर्वतन का मन बना चुकी है।

बुधवार को आप के प्रदेश कार्यालय में ‘उत्तराखंड में भी केजरीवाल’ अभियान के समापन पर एसएस कलेर ने पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। जिसमें उन्होंने बताया कि उत्तराखंड में एक फरवरी 2021 को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ‘उत्तराखंड में भी केजरीवाल’ अभियान की शुरुआत की थी। इसके तहत राज्य की सभी 70 विधानसभाओं में आप की नीतियों को घर-घर पहुंचाया गया। इसके अलावा पार्टी ने अभियान के दौरान एक लाख नए सदस्य जोड़ने का लक्ष्य तय किया था, जो कुछ दिनों में ही पूरा हो गया।

अभियान के समापन तक उत्तराखंड में पार्टी से तीन लाख से अधिक नए सदस्य जुड़े। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष कलेर ने पार्टी के सभी कार्यकर्त्‍ताओं को धन्यवाद देने के साथ ही नए सदस्यों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत पूरे राज्य में आप कार्यकर्त्‍ताओं ने 6500 से ज्यादा सभाएं कीं।

आप कार्यकर्त्‍ताओं ने मनाई होली

उत्तराखंड में भी केजरीवाल अभियान की सफलता के बाद आप कार्यकर्त्‍ताओं ने बुधवार को प्रदेश कार्यालय में होली मनाई। कार्यकर्त्‍ताओं ने एक-दूसरे को रंग व गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दीं।

कांग्रेसियों ने फूंका विधायक का पुतला

कैंट विधानसभा क्षेत्र के भूड़ गांव, पंडितवाड़ी में बदहाल सड़क को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने ढोल-नगाड़े के साथ जुलूस निकाला और विधायक का पुतला फूंका। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना के नेतृत्व में ग्रामीणों ने लवली मार्केट चौराहे से लेकर भूड़ गांव तक जुलूस निकाला। राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर विधायक हरबंश कपूर का पुतला फूंका। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि राज्य में प्रधानमंत्री ने जनता से डबल इंजन की सरकार मांगी थी, जनता ने दरियादिली दिखाते हुए उनको डबल इंजन की सरकार दे दी। लेकिन, सरकार ने जनता को धोखा ही दिया। हरबंसवाला, पंडितवाड़ी समेत पूरे कैंट में सड़कें बदहाल हैं। भूड़ गांव की सड़क पर लोक निर्माण विभाग ने अधूरा काम करके छोड़ दिया है। प्रदर्शन में कांग्रेस के प्रदेश सचिव डॉ.जसविंदर सिंह गोगी, महानगर कांग्रेस के उपाध्यक्ष अभिषेक तिवारी, महेश जोशी, ललित भद्री, शोभित तिवारी, राम बाबू, अजीत शर्मा आदि उपस्थित रहे।

 

यमकेश्वर विधायक रितु खंडूड़ी ने कहा- सरकार ने कम किया महिलाओं का बोझ

यमकेश्वर विधायक रितु खंडूड़ी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्वला योजना जैसी योजनाएं संचालित कर महिलाओं का बोझ और बीमारी को हल्का करने का काम किया है। आज मां-बहनों को धुंए में खाना पकाने से मुक्ति मिली है।

सोमवार को विधायक रितु खंडूड़ी ने न्याय पंचायत नीलकंठ के ग्राम मौन में 140 लाभार्थियों को गैस कनेक्शन वितरित किए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने हमेशा से ही समाज के  अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचाने का काम किया है। राज्य सरकार स्वरोजगार के लिए ब्याज मुक्त ऋण दे रही है, जिससे रोजगार के नए अवसर पैदा हो रहे हैं। महिलाओ को हमारी सरकार ने संपत्‍ति में बराबर का हकदार बनाया है, ओर महिला समूहों को एक लाख से पांच लाख तक का ब्याज मुक्त ऋण सरकार मुहैया करवा रही है। इस अवसर पर विधायक मीडिया प्रभारी अलकेश कुकरेती, ग्राम प्रधान जुडड़ा मीनाक्षी गौड़, देवेंद्र गौड़, मंडल अध्यक्ष गुरपाल बत्रा, जिला उपाध्यक्ष विक्रम सिंह रौथाण, भाजपा यमकेश्वर महामंत्री विजेंद्र बिष्ट, मंडल अध्यक्ष युवा मोर्चा स्वर्गाश्रम सुरजीत राणा, विधायक प्रतिनिधि विनोद जुगलान आदि मौजूद थे।

विधानसभा अध्यक्ष के चार साल का काम रहा बेमिसाल

ऋषिकेश विधायक प्रेमचंद अग्रवाल के विधानसभा अध्यक्ष के रूप में चार साल का कार्यकाल पूर्ण होने पर ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने उनको सम्मानित किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने भी सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष अरविंद चौधरी, महामंत्री सुरेंद्र सिंह सुमन, महिला मोर्चा रजनी बिष्ट, श्यामपुर मंडल गणेश रावत, लक्ष्मी गुरंग, सतपाल सैनी, जसविंदर राणा, श्री देवेंद्र नेगी, सोबन सिंह कैंतूरा, दिनेश पयाल, प्रशांत चमोली, प्रदीप धस्माना, इंद्र कुमार गोदवानी, दिनेश सती आदि उपस्थित थे।

 

 उत्‍तराखंड हाईकोर्ट से CM तीरथ को बड़ा झटका, कुंभ में को‍व‍िड की न‍िगेटिव र‍िपोर्ट जरूरी

हाईकोर्ट ने क्वारंटाइन सेंटरों की बदहाल व्यवस्था तथा महाकुंभ के इंतजामों को लेकर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई की। बुधवार को याचिकाकर्ता के अधिवक्ता शिव भट्ट, हरिद्वार की जिला विकास प्राधिकरण सचिव शिवानी पसबोला और मेलाधिकारी दीपक रावत की ओर से कुम्भ व्यवस्थाओं को लेकर निरीक्षण की रिपोर्ट कोर्ट में पेश की। निरीक्षण रिपोर्टो का अवलोकन करने के पश्यचात कोर्ट ने राज्य सरकार व मेलाधिकारी को निर्देश दिए है कि कुम्भ मेले के दौरान श्रद्धालुओं को अपनी कोविड की नगेटिव  रिपोर्ट लाना आवश्यक है, जिन लोगो को कोविड की दो बार वेक्सीन लग चुकी है, वह अपना वेक्सीन का सर्टिफिकेट साथ मे लगाएंगे और राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा जारी एसओपी का पूर्ण रूप से पालन करेंगे।

सीएम द्वारा पूर्व में जारी उक्त के सम्बंध में  आदेश को निरस्त कर दिया है। कोर्ट ने एम्स के डॉक्टरों द्वारा दिये गए सुझावों पर भी विचार करने को कहा है। एम्स के डॉक्टरों ने कमेटी को सुझाव दिए थे कि प्रत्येक दस बैड पर एक डॉक्टर व स्टाफ की नियुक्ति की जाय, प्रत्येक हॉस्पिटल में सुविधायुक्त पाँच एम्बुलेंस होने चाहिए तथा एयर एंबुलेंस की भी व्यवस्था होनी चाहिए।याचिकाकर्ता ने सुनवाई के दौरान कोर्ट को अवगत कराया गया कि मेलाधिकारी ने हरकीपैडी व मेला क्षेत्र में बहुत अच्छा काम किया है परंतु जहां पर महिलाएं स्नान कर रही है, उनके वाशरूम अच्छी स्थिति में नही है, उनमे सुविधाओ का अभाव है। कुछ लोग स्नान कर रही महिलाओं की वीडियो भी बना रहे, जो उनकी गरिमा के खिलाफ है ,इसलिए मेला क्षेत्र में एक महिला अधिकारी की नियुक्ति की जाय जो वहाँ पर जाकर निरीक्षण करे। आईजी संजय गुंजियाल से अनुरोध किया है कि इन स्थानों पर वर्दी व बिना वर्दी के महिला पुलिस कर्मी नियुक्त किये जाय।याचिकाकर्ता ने अपनी रिपोर्ट मे यह भी तथ्य उठाया गया कि ऋषिकेश, तपोवन मुनिकीरेती के घाटों की हालात जर्जर  है। सरकार ने इनको सुधारने के लिए कोई व्यवस्था नही की है । इसपर कोर्ट ने मुख्य सचिव व वित्त सचिव से इस पर विचार करने को कहा है। कोर्ट ने मेलाधिकारी, चीफ सैकेट्री, वित्त सचिव व आईजी संजय गुंज्याल को निर्देश दिए है कि वे मेला क्षेत्र का अधिवक्ता के साथ निरीक्षण करेंगे और 30 मार्च तक मेलाधिकरी अपनी रिपोर्ट कोर्ट में पेश करेंगे ।31 मार्च को मेला अधिकारी, चीफ सैकेट्री,वित्त सचिव और आईजी कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेश होंगे।मामले की सुनवाई मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमुर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में अधिवक्ता दुष्यंत मैनाली व देहरादून निवासी सच्चिदानंद डबराल की जनहित याचिका पर सुनवाई हुई।जिसमें  क्वारन्टीन सेंटरों व कोविड अस्पतालों की बदहाली और उत्तराखंड वापस लौट रहे प्रवासियों की मदद और उनके लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने को लेकर हाईकोर्ट में अलग अलग जनहित याचिकायें दायर की थी। पूर्व में बदहाल क्वारंटाइन सेंटरों के मामले में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में पेश कर माना था कि उत्तराखंड के सभी क्वारंटाइन सेंटर बदहाल स्थिति में हैं और सरकार की ओर से वहां पर प्रवासियों के लिए कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई है। जिसका संज्ञान लेकर कोर्ट अस्पतालों की नियमित मॉनिटरिंग के लिये जिलाधिकारियों की अध्यक्षता में जिलेवार निगरानी कमेटी गठित की थी।

 

देहरादून में कोरोना संक्रमण से बेखौफ दिख रही बाजार में भीड़, शासन-प्रशासन के साथ सरकार की भी बढ़ा दी चिंता

देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर शुरू होने के बाद उत्तराखंड में भी इसके संकेत मिलने लगे हैं। कुछ माह की राहत के बाद दून समेत कई जिलों में कोरोना संक्रमण का प्रसार फिर तेज होने लगा है। रोजाना बढ़ रही नए मामलों की संख्या ने शासन-प्रशासन के साथ सरकार की भी चिंता बढ़ा दी है।

दूसरी तरफ, दूनवासियों में इस वैश्विक महामारी के प्रति बेपरवाही बढ़ती जा रही है। जनता कर्फ्यू और लॉकडाउन का जिस अनुशासन के साथ पालन किया गया था, वह अनुशासन अब नजर नहीं आ रहा। बाजार में दो गज की दूरी तो सिरे से गायब है ही, लोग मास्क के इस्तेमाल से भी परहेज करने लगे हैं। सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी व्यवहार से तकरीबन गायब हो चुका है। ग्राहकों के साथ व्यापारी भी कोरोना संक्रमण को लेकर बेखौफ हैं। अधिकांश प्रतिष्ठानों में कोरोना से बचाव के लिए जारी की गई गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा। ग्राहकों के बीच दो गज की दूरी रखने के लिए बनाए गए गोलों का अस्तित्व पूरी तरह खत्म हो चुका है तो सैनिटाइजर इक्का-दुक्का दुकानों में ही नजर आता है। उस पर ग्राहकों को मास्क के बिना भी बगैर किसी रोक-टोक के प्रवेश दिया जा रहा है। बुधवार को दून के सभी बाजार में कमोबेश ऐसा ही नजारा नुमाया हुआ। दोपहर साढ़े 12 बजे आढ़त बाजार ग्राहकों की भीड़ से पटा नजर आया। कहीं भी कोरोना से बचाव के लिए जारी नियम-कायदों का पालन होता नहीं दिखा। दर्शनी गेट, हनुमान चौक, रामलीला बाजार, पलटन बाजार, श्रीझंडा जी बाजार, धामावाला बाजार में भी दिनभर यही स्थिति रही। राजा रोड, मच्छी बाजार, डिस्पेंसरी रोड, दर्शनलाल चौक, राजपुर रोड, जाखन, चकराता रोड, बिंदाल पुल, बल्लीवाला चौक, बल्लूपुर चौक पर भी सामान खरीदते लोग कोरोना संक्रमण से बेखौफ दिखे। शॉपिंग मॉल, पार्क, दून चिड़ि‍याघर में भी भीड़ के बीच एहतियात गुम नजर आई।

  • सुनील कुमार बांगा (अध्यक्ष, महानगर व्यापार प्रकोष्ठ) ने कहा कि जिस प्रकार से दून में कोरोना के मामले सबसे अधिक आ रहे हैं, वह डराने वाला है। व्यापारियों को कोरोना संक्रमण रोकने के लिए गाइडलाइन का पालन करना होगा। अभी नहीं चेते तो आने वाला समय और अधिक चिंताजनक हो सकता है।
  • सिद्धार्थ अग्रवाल (कार्यकारी अध्यक्ष, दून उद्योग व्यापार मंडल) ने कहा कि निश्चित रूप से व्यापारिक प्रतिष्ठानों को कोरोना संक्रमण को लेकर सक्रिय होना पड़ेगा। ग्राहकों से शारीरिक दूरी के नियम का पालन कराने और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने की जिम्मेदारी निभानी होगी। व्यापार मंडल सभी को जागरूक करेगा।
  • सुनील मैसोन (अध्यक्ष, दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष) ने कहा कि कोरोना संक्रमण जिस गति से दून में बढ़ रहा है, वह चिंतित करने वाला है। बाजार में सभी को अनिवार्य रूप से मास्क पहनना होगा। सभी व्यापारियों से आग्रह किया जाएगा कि वह कोरोना से सुरक्षा के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करें।

एक से 30 अप्रैल तक चलेगा हरिद्वार कुंभ मेला, अधिसूचना जारी

शासन ने हरिद्वार कुंभ की अधिसूचना जारी कर दी है। कुंभ एक अप्रैल से शुरू होकर 30 अप्रैल तक चलेगा। इसके साथ ही शासन ने कुंभ क्षेत्र भी अधिसूचित कर दिया है। इसी क्षेत्र के भीतर कुंभ के लिए जारी सभी दिशा-निर्देश लागू होंगे।

हरिद्वार में 12 साल बाद कुंभ का आयोजन होता है। अमूमन कुंभ की अवधि साढ़े तीन माह की होती है। वर्ष 2010 में कुंभ 14 जनवरी से शुरू होकर 28 अप्रैल तक चला था। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण शासन ने इसकी अवधि घटाकर एक माह कर दी है। इस अवधि में 12 अप्रैल, 14 अप्रैल और 27 अप्रैल को, कुल तीन शाही स्नान होंगे। इसके अलावा 13 अप्रैल को चैत्र प्रतिपदा व 21 अप्रैल को रामनवमी के पर्व स्नान भी होंगे। प्रभारी सचिव विनोद कुमार सुमन द्वारा जारी अधिसूचना में कुंभ क्षेत्र को भी अधिसूचित किया गया है। इसके अनुसार उत्तर में यह सीमा नीरगढ़, तपोवन, बिठ्ठल आश्रम मार्ग से लेकर नरेंद्रनगर मुनि की रेती मार्ग तक रहेगी। पश्चिम में यह सीमा नरेंद्रनगर-ऋषिकेश बाइपास, ऋषिकेश-देहरादून मार्ग पर वन चौकी तक, वन चौकी से ऋषिकेश-हरिद्वार बाइपास मार्ग, हिल पास के साथ मंसा देवी, बिल्केश्वर मंदिर, टिबड़ी, मोहंड रोड जंगल चौकी, बीएचइएल के आवासीय भवन, रुड़की-बहादराबाद मार्ग और हरिद्वार-दिल्ली मार्ग पर 13 किमी तक रहेगी। दक्षिण में यह सीमा बहादराबाद-हरिद्वार बाइपास मार्ग, सीतापुर गांव, हरिद्वार-ऋषिकेश बाइपास पर रेलवे पुल, ग्राम जियोपोता से हरिद्वार-नजीबाबाद मार्ग के सिद्ध सोत सेतु तक रहेगी।

 

पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर कहा- कोरोना पहलवान ने मुझे जकड़ ही लिया

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। बुधवार को पूर्व सीएम समेत उनके परिवार के पांच सदस्यों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।  हरीश रावत ने अपने ट्वीट में लिखा है ‘अनंतोगत्वा कोरोना पहलवान ने मुझे जकड़ ही लिया। आज दोपहर बाद मैंने अपनी पत्नी, बेटी, सुमित रावत, पूरन रावत इन सबका कोरोना टेस्ट करने का फैसला लिया। मैं तब भी अपना कोरोना टेस्ट करवाने में हिचकिचा रहा था। फिर मुझे लगा, नहीं मुझे भी करवा लेना चाहिए और अच्छा हुआ मैंने टेस्ट करवा लिया। टेस्ट की रिपोर्ट आने पर मैं पॉजिटिव पाया गया हूं और मेरे परिवार के एक साथ चार अन्य सदस्य भी पॉजिटिव पाए गए हैं। जितने भी लोग मेरे संपर्क में आए हैं, वह अपनी जांच करवा लें, क्योंकि ये सावधानी आवश्यक है।’  बता दें कि पूर्व सीएम हरीश रावत कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कुछ दिन पहले टीका भी (पहली डोज) लगवा चुके हैं। इसके बाद वह कई कार्यक्रमों में शामिल भी हुए। एक दिन पहले ही वह डीएवी पीजी कॉलेज व सुभाष रोड स्थित एक वेडिंग प्वाइंट में आयोजित होली मिलन समारोह में भी शामिल हुए थे।

[ad id=’11174′]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here