एक विक्रेता जिसे अपने देश की छवि की परवाह थी

0
72
साल 2014
मैं मालदीव की राजधानी माले गया था, मालदीव एक छोटा सा और बेहद खूबसूरत आईलैंड है। पूरा शहर आप पैदल चलकर घूम सकते हैं। यूं तो टैक्सी भी उपलब्ध हो जाती हैं, लेकिन पूरा शहर का चक्कर लगाने में आपको मुश्किल से 3 से 4 किलोमीटर चलना पड़ेगा। आबादी लगभग दो लाख। आईलैंड होने के कारण गर्म वातावरण, पसीना हमेशा आएगा। मालदीव की इकोनामी फिशिंग और टूरिज्म पर बेस्ड है, और चार लाख की आबादी वाले देश में, लगभग 20 लाख टूरिस्ट साल भर में आते हैं। जो आबादी के हिसाब से दुनिया में सर्वाधिक है। मालदीव प्रसिद्ध है अपने बेहद खूबसूरत बीचेस और रिजॉर्ट्स के लिए।
एक इंडियन रेस्टोरेंट है पापड़म। एक दिन में, मैं वहाँ खाने पहुंचा। काफी भारी भरकम बिल और अत्याधिक मसालेदार खाना था। मैंने अपने होटल के रिसेप्शन में पूछा –  किसी और रेस्टोरेंट के बारे में, रिसेप्शनिस्ट ने बताया, एक नेपाली फूड जंक्शन पास में है, दूसरे दिन, मैं खाना खाने के लिए वहां पहुंचा। छोटा सा साफ सुथरा रेस्टोरेंट। उनके पास खाने में नेपाली थाली थी, जिसमे था चावल- दाल- सब्जी -सलाद -अचार- पापड। खाना बिल्कुल गर्म और बेहद स्वादिष्ट। खाने के दौरान मैंने उससे मिर्ची मांगी। उन्होने तीखी मिर्ची ला कर रखी, जो तंजानिया में मिलती थी। और तंजानिया में उस मिर्ची का नाम – पीली पीली मुजी था जो बेहद तीखी होती है और टमाटर जैसी गोल गोल। मैंने पूछा यह मिर्ची यहां मिलती है? बंदे का कहना था – हां जी सर, मंडी में मिलती है।
दूसरे दिन शाम को मैं घूमते घूमते मंडी पहुंच गया। वेजिटेबल मार्केट के नाम से एक छोटा सा बाजार था। जिसमें बहुत सारे छोटे छोटे दुकानदार अपने उत्पाद को बेच रहे थे। मछलियों की भरमार थी। कुछ फ्रूट और वेजिटेबल्स भी थी। एक छोटी दुकान के बाहर टोकरी में रखे मिर्ची मुझे दिखाई पड़े। लाल लाल टमाटर जैसे, लेकिन टमाटर से थोड़े छोटे। मैंने दुकानदार से कीमत पूछी, और उसे सौ ग्राम देने को कहा। उसने मुझसे पूछा – आप यहां रहते हो, मैंने कहा – नहीं इंडिया में। उसका कहना था, वापस कब जाओगे? मैंने कहा – कल शाम को। उसने कहा – फिर आप यह मिर्ची मत लो, क्योंकि यह आज और कल में खाने के लिए है। मैं आपको राइप मिर्ची देता हूं, जो आप दस दिन तक यूज कर सकते हो। वह दुकान के अंदर पहुंचा, नीचे से एक टोकरी निकाली, उसमें सारी मिर्ची हरे रंग की थी। उससे उसने 100 ग्राम निकाली, 3 – 4 मिर्ची एक्स्ट्रा डाली और मुझे देते हुए कहा – यह मिर्ची आप 10 दिन तक यूज कर सकते हो।  उसके बाद उसने कहा मुझे उसका नारियल ट्राई करना चाहिए। मैंने उसका नारियल भी पिया, बिल्कुल फ्रेश।
बातचीत के दौरान उसने कहा – आपको मिर्ची की जानकारी नहीं है, लेकिन मैं तो जानता हूं। इसलिए मैं हमेशा अपने कस्टमर्स को सही सलाह देता हूं। अगर मैं आपको गलत सलाह दूंगा, तो मेरे देश की भी बदनामी होगी। आप हमारे गेस्ट हो, मैंने पैसे देकर, हाथ मिलाकर विदा ली।

उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फ़ेसबुक पेज से जुड़ें।


लेखक के जीवन में रोचक अनुभवों को पढ़ने के लिए आप निम्न किताब जो की amazon में उपलब्ध है, को खरीद सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here