हैड़ाखान बाबा

0
185

हैडा़खान बाबा (श्री मुनीन्द्र भगवान)

हैड़ाखान बाबा जो देश विदेश के लोगों के बीच इर्मोटल (जो कभी मरा नहीं) बाबा के नाम से भी प्रसिद्ध थे। आपके बारे में कहा जाता है कि आप कई बार अवतार ले चुके हैं। सर्वप्रथम लगभग सन् 1880 में लोगों को, हल्द्वानी के गौलपार क्षेत्र के हैड़ाखान नामक स्थान में आपके दर्शन हुए

बाबा औलोकिक शक्तियों के साथ गुप्त विद्याएं को भी जानते थे, विदेशी लोगों के साथ साथ उनके कई फिल्म जगत के लोग तथा राजनेता बाबा के परमभक्त रहे हैं। इसमें शम्मी कपूर, राजेश पायलट व उनकी पत्नी रमा पायलट प्रमुख रहे हैं। हैड़ाखान मंदिर में वर्ष 1975 से आगमन के बाद शम्मी कपूर ने गेरुवा वस्त्र व रुद्राक्ष की मालाएं पहननी शुरू कर दी थी, यही नहीं उन्होने अपने पुत्र निक्की कपूर का विवाह वर्ष 1982 में हैड़ाखान मंदिर में किया। इस दौरान राजकपूर से लेकर शशि कपूर तक, पूरा परिवार शम्मी कपूर के साथ हैड़ाखान पहुंचा था। इस दौरान हैड़ाखान व चिलियानौला रानीखेत के मंदिरों की भव्य रिकार्डिग की थी। विदेशों में प्रसारण के बाद यहां विदेशी शिष्यों की बाढ़ आ गई, और हैड़ाखान मंदिर विश्व के मानचित्रों में प्रमुखता से छा गया।

हैड़ाखान के अतिरिक्त आपके कई स्थानों में बाबा के आश्रम हैं जैसे कठघरिया, चिलियानौला, खुर्पाताल, सिद्धाश्रम, छेदू आश्रम आदि। आपके द्वारा जिन गुफाओं में तपस्या की वे हैं वांसुली गुफा, सरजा गुफा, ऋउणी द्वारसा गुफा और हैड़ाखान की गुफा।

हैड़ाखान बाबा और हैड़ाखान आश्रम के बारे में और अधिक जानने के लिए, आप नीचे दिये विडियो भी देख सकते हैं


उत्तरापीडिया के अपडेट पाने के लिए फ़ेसबुक पेज से जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here