कहानियां

ढलता हुआ सूरज (पुत्र के आधुनिक और पेरेंट्स के पुराने होने की मार्मिक कहानी)

मैं ढलता हुआ सूरज हूँ। लाचार, बेबस और असहाय, मुझे मेरी उस संतान ने ही सड़क पर लाकर रख दिया है। जिस पर मै...

….और ट्रेन चलने लगती है

यह कहानी है 5 साल की छोटी बच्ची की, जो ट्रेन में अपनी मम्मी से बिछड़ जाती है। उसके बाद उसकी क्या प्रतिक्रिया होती...

कैसा हो शिक्षक का व्यवहार?

यूं तो हम सभी की पहली शिक्षिका हमारी माता जी होती हैं, जो बचपन से ही हर बात बहुत बारीकियों से सिखाती हैं कि...

अनजान सही, तो भी बताना होता है, रिश्तों को कभी यो भी निभाना होता है!

हर साल की तरह इस साल भी शिक्षक दिवस पर सकुचे शरमाये से हम हाँ पर हाँ मिलाये जा रहे थे। वैसे तो हमारे...

लैंसडाउन का सर कटा भूत

लैंसडाउन गढ़वाल राइफल्स की सैनिक छावनी है । यही से भारत माँ के वीर सपूत प्रशिक्षण प्राप्त करके देश की विभिन्न सीमाओं में अपनी...

Popular

Subscribe

spot_imgspot_img
error: