Rajesh Budhalakoti

17 POSTS
अल्मोडा कॉलेज से post graduation कर सार्वजनिक उपक्रम मे विपणन प्रबन्धक रह कर देश के कई स्थानो मे रहा, अब सेवा निवृति के उपरान्त हल्द्वानी मे रह रहा हूँ। मूल निवास कोटाबाग। पढाई अल्मोडा और नैनीताल से। रूचि - पढ़ना और पढ़ाना

Exclusive articles:

अल्मोड़ा लाला बाजार की यादें

अब धीरे धीरे हल्द्वानी की सार पड़ती जा रही है। बात बात मे अब शिमला मे ऐसा, शिमला मे वैसा कम निकलता है, शिमला मे...

बारिश में ये मौसम और आँखों में नमी नैनीताल के पुराने दिनों की

आज सुबह से बरसात ने मौसम सुहावना कर दिया है। बरामदे मे कुर्सी डाल गरम चाय की प्याली के साथ अतीत की गहराईयो मे...

वो सरकारी आवास के आराम और अब ख़त्म न होते काम

जनाब उम्र के इस पड़ाव पर जब भी मुड़ कर देखा एक बात बहुत याद आती है, यहाँ हल्द्वानी में कठघरिया मे बसने के...

नंदादेवी कौतिक का वो उत्साह

आहा झोड़ा गाते गाते गोल गोल घुमते स्त्री और पुरुष, हुडुके की थाप, एक दुसरे के कंधो पर हाथ, मानव शृंखला मदमस्त नून तेल...

Breaking

देहरादून ख़ुशनुमा मौसम लिए खूबसूरत शहर

देहरादून जो विगत वर्षों में भारत की चुनिंदा स्मार्ट...

आदि बद्री मंदिर समूह Adi Badri Group of Temples

Uttarakhand: उत्तराखंड का इतिहास बहुत पुराना है, जिसके बारे...
spot_imgspot_img
error: